*खेतों की आग घर तक पहुंची पूरा “घर जलकर हुआ राख* *2 भैंसे बेच चारे के लिए रखे 1.30 लाख बजी खाक *10 लाख का नुकसान*

♦*खेतों की आग घर तक पहुंची पूरा “घर जलकर हुआ राख*  
*2 भैंसे बेच चारे के लिए रखे 1.30 लाख बजी खाक
 *10 लाख का नुकसान* 
* बजुर्ग ने भाग कर बचाई जान
* उनको कुदरती आपता रहित फंड में से मुआवजा मिले: सरपंच
*Punjab top news today*
पठानकोट, 10 मई(कंवल) भले ही सरकार खेतों में नाड़ को आग न लगने के लिए कानून बनाकर भी हर प्रकार से किसानों को रोकने की कोशिश करती रहती है, मगर इसके बावजूद सरकारी हिदायतों अनदेखी करके खेतों में आग लगने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहे, जबकि खेतों में आग लगने से इस अनेकों किसानों को लाखों का नुकसान भी उठाना पड़ता है। इसी के चलते खेतों की आग घर तक आ पहुंची और पूरा घर ही जलकर राख में तब्दील हो गया। घर में कुछ भी नहीं बचा। पठानकोट के सरना-भीमपुर मार्ग पर स्थित गांव गुलपुर में यूबीडीसी पुल के पास घटनास्थल पर जाकर एकत्रित की जानकारी अनुसार पूरा परिवार पास के गांव में किसी शादी में गया था घर में केवल उनका 70 वर्षीय बज़ुर्ग इस्माइल ही मौजूद था।
पीड़ित परिवार मोहम्मद रफी पुत्र इस्माइल, छैलो, गुलाम अली, मासूमा बीबी, रिहान, शहनाज, नाज़िया आदि ने बताया कि घर से दूर खेतों में किसी ने नाड़ को आग लगाई हुई थी। रात करीब 8 बजे के अचानक तेज हवाओं के चलने से आग इतनी भड़की की उनके घर तक आ पहुंची। आग इतनी भयानक थी कि देखते ही देखते पूरा घर आग की चपेट में आ गया। उन्होंने बताया कि उनका पूरा परिवार पास के गांव में किसी शादी में गए हुए थे तब उनको इसकी जानकारी मिली तो वह तुरंत घर पहुंचे मगर तबतक आग ने पूरे घर को राख बना डाला। आग बुझाने वाली गाड़ी भी रात को आई मगर तबतक घर में कुछ नहीं बच पाया था। 
 
भाग कर बचाई जान:
       बज़ुर्ग इस्माइल ने बताया कि आग जब खेतों से तेज हवा के कारण घर में लग गई तब घर का बज़ुर्ग जो घर पर था। घर में जब आग भड़क उठी तब उसे पता चला तो आग पूरे घर को ही आपानी चपेट में ले चुकी थी बज़ुर्ग ने भाग कर बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाई।
1.30 लाख नकद सहित 10 लाख राख
      पीड़ित मोहम्मद अली ने बताया कि उसने अपनी 2 भैसों को बेच था उसके 1.30 लाख रुपये भी घर पर ही पड़े थे जो पशुओं के लिए खरीदे चारे तूड़ी के देने थे, वह भी आग में जल कर खाक हो गए हैं। इसके अलावा कमेटी के भी घर पर थे, घर के सारे समान के साथ वह भी जलकर राख हो गए। 4 तोले सोने के गहने, इस अग्निकांड में उनका करीब 10 लाख से अधिक नुकसान हो गया है। पूरा घर ही जल जाने के कारण उनका परिवार खुले आसमान में आ गया है। न कुछ खाने को बचा न खाना बनाने को, न बैठने को कुर्सी, न सोने को चारपाई, बर्तन, कपड़े, खाद्य सामग्री आदि कुछ नहीं बचा। 
 
प्रशासन से आर्थिक सहायता की मांग:
  1.        गांव के सरपंच जीआ लाल शर्मा व पीड़ित परिवार ने पंजाब सरकार व प्रशासन से गुहार लगाई की इस फैली आग जिसमें उनके परिवार का क्या कसूर था, किसी ने खेतों में लगाई जो प्रशासन की ही कमजोरी है। मगर भुगत उनका परिवार रहा है। उनको कुदरती आपता रहित फंड में से मुआवजे के रूप में आर्थिक सहायता दी जाए। ताकि वह अपना रैन बसेरा पुनः बनाकर परिवार के सिर पर छत दे सकें।

Punjab Top News today,Breaking News today, Exclusive breakfast morning time top 10 20 news today, punjab state live news, breaking news today

WEBSITE DEVELOP AND MAINTAINED BY PUNJAB TOP NEWS TODAY TEAM